Edition

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

म. प्र. न्यूज़ : CAG की रिपोर्ट में खुलासा, मध्य प्रदेश सरकार भारी कर्ज में डूबी

म. प्र. न्यूज़ : CAG की रिपोर्ट में खुलासा, मध्य प्रदेश सरकार भारी कर्ज में डूबी

म. प्र. न्यूज़ : CAG की रिपोर्ट में खुलासा, मध्य प्रदेश सरकार भारी कर्ज में डूबी

म. प्र. न्यूज़ : CAG की रिपोर्ट में एक खुलासा हुआ है जिसमें मध्य प्रदेश की सरकार भारी कर्ज में डूबी हुई है पहले से मौजूदा कर्ज को चुकाने के लिए प्रदेश सरकार को और कर्ज लेना पड़ रहा है . ऐसे हालातो को देखकर प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने एक पर पोस्ट करके वर्तमान मोहन सरकार पर तीखे सवालों से प्रहार किए हैं .

कमलनाथ ने आरोप लगाए हैं ,  कि राज्य सरकार पर वर्तमान समय में करीब 3.75 लाख करोड रुपए का कर्ज है . यदि प्रति व्यक्ति कर्ज के लिहाज से देखा जाए तो 1 साल पहले मध्य प्रदेश में हर नागरिक पर 39000 का कर्ज था . जो कि इस साल बढ़कर 45000 रुपए हो गया है . और मार्च 2025 तक प्रति व्यक्ति कर्ज 55000 हो जाएगा .

वहीं राज्य सरकार की आमदनी का एक बड़ा हिस्सा कर्ज के ब्याज को चुकाने में खर्च होता है . प्रदेश सरकार की इसी कर्ज नीति का परिणाम मध्य प्रदेश की जनता पर असर डाल रही है यही वजह है . कि मध्य प्रदेश की जनता पेट्रोल -डीजल, रसोई गैस सिलेंडर और बिजली सबसे ज्यादा महंगे कीमत पर खरीदती है . जनता जो टैक्स जमा करती है उसका इस्तेमाल सरकार कर्ज के ब्याज को चुकाने में लगा रही है . इस भारी भरकम कर्ज का इस्तेमाल प्रदेश की सरकार जनता के कल्याण के बजाय ठेके और कमीशनराज में कर रही है .

प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने एक पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि मध्य प्रदेश को कर्ज के दलदल में इस तरह डूबा दिया गया है . कि CAG की रिपोर्ट में भी कर्ज के हालात पर चिंता व्यक्त की गई है . हालत यह है की कर्ज चुकाने के लिए भी प्रदेश सरकार कर्ज ले रही है . प्रदेश के अर्थव्यवस्था को पूरी तरह चौपट कर प्रदेश को दिवालियापन की तरफ धकेला जा रहा है प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के बजाय कर्ज लेकर काम चलाया जा रहा है .

अगर मध्य प्रदेश सरकार प्रदेश की आर्थिक गतिविधियों को तेज कर रोज़गार के नए अवसर सृजित करे तथा मौजूदा कृषि एवं अन्य व्यवसाय का आधुनिकीकरण करे तो प्रदेश की आर्थिक स्थिति बेहतर हो सकती है. लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि अर्थव्यवस्था में सुधार की बात तो दूर प्रदेश सरकार का ध्यान अर्थव्यवस्था पर है ही नहीं .

Vindhya Times
Author: Vindhya Times

विन्ध्या टाइम्स वेब बेस्ड न्यूज़ चैनल है जो विन्ध्य क्षेत्र में एक सार्थक,सकारात्मक और प्रभावी रिसर्च बेस्ड पत्रकारिता के लिए अपनी जाना जाता है.चैनल के माध्यम से न्यूज़ बुलेटिन, न्यूज़ स्टोरी, डाक्यूमेंट्री फिल्म के साथ-साथ विन्ध्य क्षेत्र और मप्र. की ख़बरों को प्रसारित किया जाता है. विन्ध्य क्षेत्र की राजनीति, युवा, सांस्कृतिक, पर्यटन, शिक्षा, स्वास्थ्य, खेल, कल्चर, फ़ूड, और अन्य क्षेत्र में एक मजबूत पत्रकारिता चैनल का उद्देश्य है. विन्ध्या टाइम्स न्यूज़ चैनल की ख़बरों को आप चैनल की वेबसाइट-www.vindhyatimes.in एवं एंड्राइड बेस्ड एप्लीकेशन के माध्यम से भी प्राप्त कर सकते हैं. साथ ही साथ फेसबुक पेज- https://www.facebook.com/vindhyatimesnews और ट्वीटर में -@vindhyatimes से भी आप ख़बरों को पढ़ सकते हैं. जुड़े रहिये हमारे साथ |

Leave a Comment

और पढ़ें